Cyber Crime Fraud Call Se Kaise Bache ?

2
Cyber Crime Fraud Call
Cyber Crime Fraud Call Se Kaise Bache ?

!आपको भी आते है फ़र्ज़ी कॉल्स? कभी एटीएम बंद करने के लिए तो कभी फ्री गिफ्ट वाउचर के लिए! आपके पास भी कॉल आते होंगे। यह फर्जी कॉल्स होते हैं! लेकिन इनसे बचना कैसे है आइए जानते हैं! आधुनिक युग में जितनी तेजी से तकनीक आगे बढ़ रही है! उतनी ही तेजी से सायबर अपराध भी बढ़ते जा रहे हैं! सिर्फ एक मैसेज और कॉल के जरिए अपराधी आपको कंगाल बना सकते हैं (Cyber Crime Fraud Call)

आपके पास भी ऐसे कॉल आए होंगे या अभी भी आते होंगे! जो कभी आपकी निजी या बैंक अकाउंट नंबर की जानकारी भी मांगते होंगे! तो कभी आपके खाते में मौजूद पैसे के कहीं और ट्रांसफर किए जाने की सूचना देते होंगे! ये यहीं तक सीमित नहीं है! इनके अलावा भी कई जरिए हैं जिनके बारे में शायद ही आपने कभी सोचा होगा।

Cyber Crime Fraud Call Se Kaise Bache Top 5 Ideas ?

1. क्रेडिट या डेबिट कार्ड के लिए:- आपका क्रेडिट या डेबिट कार्ड जल्दी बंद हो जाएगा। इसे चालू रखने के लिए आधार कार्ड और बैंक अकाउंट नंबर दीजिए’ कुछ ऐसे ही फोन कॉल्स आते हैं। अकाउंट की जानकारी जुटाने के लिए कई कारण भी देने की कोशिश करते हैं।

2. आयकर विभाग से कॉल:- आयकर विभाग के नाम पर जानकारी जुटाने के लिए। धोखाधड़ी के फोन कॉल्स किए जाते हैं। जानकारी के अभाव के कारण अमूमन लोग फोन पर जानकारी साझा कर बैठते हैं।

3. मोबाइल वॉलेट स्कैम:- ठग खुद को किसी जाने-माने मोबाइल वॉलेट का कर्मी बताकर निजी जानकारी लेने की कोशिश में रहता है। फ्री गिफ्ट वाउचर मिलने का झांसा भी देते हैं।

4. टेलीकॉम कंपनी:- के नाम पर जिस कंपनी की सिम आप इस्तेमाल कर रहे हैं उस कंपनी के नाम पर ठग फोन करते हैं। आपका नंबर पोस्टपेड है या प्रीपेड इसकी जानकारी लेकर नए प्लान बताते हैं। फिर बैंक अकाउंट या अन्य जानकारी की मांग करते हैं।

5. मिस्ड कॉल से फ्रॉड:- इंटरनेशनल नंबर यानी जिसकी शुरूआत ‘+91’ से नहीं होती है, उसे भी लोग उठा लेते हैं या उस पर कॉल बैक कर लेते हैं।

Banking Fraud, Fake Calls से कैसे बचें, जानिए ?

आमतौर पर अपराधी फोन पर ही जानकारी जुटाने की कोशश करते हैं! फोन पर ओटीपी, यूपीआई, बैंक, डैबिट/क्रेडिट कार्ड की जानकारी देने से बचें कोई भी बैंक या आरबीआई निजी जानकारी फोन पर नहीं मांगती है। बैंक हमेशा ई-मेल या मैसेज के ज़रिए ब्रांच पर आने के लिए कहते हैं।

अगर इस तरह के कॉल आते हैं! तो बैंक जाकर पूछताछ कर सकते हैं! किसी भी लुभावने ऑफर के झांसे में नहीं आएं। अगर उस ऑफर पर विश्वास है! तो उसकी पूरी जानकारी कंपनी की ऑफिशियल मेल आईडी से अपने ई-मेल आईडी पर मांगे।इसकी पूरी छानबीन करें या किसी से सलाह लें।

अगर वह आपकी निजी जानकारी की मांग करते हैं! या ऑफर तुंरत ख़त्म या सीमित समय तक होने की बात करते हैं! तो यह सायबर अपराध का हिस्सा हो सकता है! आयकर विभाग भी करदाता से फोन पर जानकारी की मांग नहीं करता है! अगर कोई विदेशी कॉल आता है! और उसके आगे +91 नहीं हो, तो उसनंबर से मिस्ड कॉल आने पर कॉलबैक नहीं करें अगर नंबर जाना-पहचाना है! तो ही कॉलबैक करें।

यह भी पढ़ें:- Cyber Crime Kya Hai – साइबर क्राइम से कैसे बचें ?

यहां शिकायत करें Fake Calls Phone Ki Cyber Crime ?

अगर आपको फर्जी कॉल्स आते हैं! तो स्थानीय पुलिस विभाग में इनकी शिकायत कर सकते हैं। राज्य उपभोक्ता संरक्षण कार्यालय या फेडरल एनफोर्समेंट एजेंसी में भी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। फेडरल एनफोर्समेंट एजेंसी शिकायतकर्ता की तरफ़ से काम नहीं करती है। ये शिकायत की जांच करके धोखाधड़ी का पता लगाती है और उस आधार पर कंपनी के खिलाफ कार्यवाही करती है। अगर किसी ऐसे नंबर से फोन आता है जिसके नंबर के आगे इंटरनेशनल कोड लगा हो तो टोल फ्री नंबर 1800110420 या 1963 पर शिकायत कर सकते हैं।

अगर आपके पास कोई भी सवाल जवाब हो तो हमे कमेन्ट बॉक्स में जरूर पूछे और इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर करे एंड सोशल मीडिया पर भी फिर मिलते है नेक्स्ट आर्टिकल में जय हिंदी जय भारत…

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here